लिरिक्स - भगतो के घर भी संवारे आते रहा करो Bhakto Ke Ghar Bhi Sanware Aate Raha Karo Lyrics

भगतो के घर भी संवारे आते रहा करो

Singer - Anjali Dwivedi Ji

Lyrics Track - Bhakto Ke Ghar Bhi Sanware Aate Raha Karo




राम कृपा दिखला दे तो,
इये संत मिलन हो जाता है,
और संत दया दिखलादे तो,
भगवंत मिलन हो जाता है। 



भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो,
भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो,
दर्शन के नैन बावरे,
दर्शन दिया करो। 



कुछ ना घटेगा आपका,
आकर तो देखिए,
पलके बिछाई रहा में,
हमने तेरे लिए,
खाली पड़ा है दिल मेरा,
इसमें आके रहो,
दर्शन के नैन बावरे,
दर्शन दिया कर,
भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो,
भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो। 



कहते है प्रेम से प्रभू,
छिलके भी खा गये,
सुदामा के तंद्रलो में,
दखल न थी प्रेम था,
अरे मालिनी कुब्जा की कोई,
शकल न थी प्रेम था,
धन्य थी पूजा में कोई,
अकल न थी प्रेम था,
बाई मीरा के कीर्तन मे,
नक़ल न थी प्रेम था। 





कहते है प्रेम से प्रभू,
छिलके भी खा गये,
तंद्रल सुदामा यार के,
गिरधर को भा गये,
भीलनी के झुठे बेर प्रभू,
खाते रहा करो,
दर्शन के नैन बावरे,
दर्शन दिया करो
भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो,
भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो। 



भगतो की शान आप हो,
भगतो का मान हो,
भगतो की ज़िन्दगी,
तन मन हो प्राण हो,
तेरे नाम की हमें प्रभू,
मस्ती दिया करो,
दर्शन के नैन बावरे,
दर्शन दिया करो,
भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो,
भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो। 



माना तुम्हारा चाहने,
वाले अनेक है,
कौन से हीरे जड़े थे,
नरसी की करताल में,
अरि वन मे भी जाकर था खाया,
द्रोपदी के थाल में
क्या समझ कर बंध गये वो,
नन्द के जंजाल में। 




क्या समझ कर लाया था निर्धन,
फटे हुए रुमाल मे
माना तुम्हारे चाहने,
वाले अनेक है,
उन पागलो की भीड़ मे,
बिन्नू भी एक है
तेरे दया का पात्र हु,
मुझ पर दया करो,
दर्शन के नैन बावरे,
दर्शन दिया करो
भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो,
भगतो के घर भी संवारे,
आते रहा करो। 


0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने