लिरिक्स : दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया Dard Kisko Dikhaun Kanhaiya Lyrics

दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया 

Singer - Raju Singh Anuragi

Track Lyrics - Dard Kisko Dikhaun Kanhaiya Lyrics




दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया ,
कोई हमदर्द तुमसा नही है,
दुनिया वाले नमक है छिड़कते,
कोई मरहम लगाता नही है,
दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया ,
कोई हमदर्द तुमसा नही है। 



किसको वैरी कहू किसको अपना,
झूठे वाधे है सारे ये सपना,
अब तो कहने में आती शरम है,
रिश्ते नाते ये सारे भ्रम है,
देख खुशियाँ मेरी जिन्दगी की,
रास अपनों को आती नही है,
दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया ,
कोई हमदर्द तुमसा नही है। 



ठोकरों पे है ठोकर खाया,
जब भी दिल दुसरो से लगाया ,
हर कदम पे है सब ने गिराया,
सब ने स्वार्थ का रिश्ता निभाया,
तुझसे नैना लड़ाना कन्हियाँ,
दुनिया वालो को भाता नही है,
दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया ,
कोई हमदर्द तुमसा नही है। 



दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया ,
कोई हमदर्द तुमसा नही है,
दुनिया वाले नमक है छिड़कते,
कोई मरहम लगाता नही है,
दर्द किसको दिखाऊं कन्हैया ,
कोई हमदर्द तुमसा नही है।


0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने