लिरिक्स : दाता दर्श को तेरे मेरी आंख तरस ती है Data Darsh Ko Tere Meri Aankh Tars Ti Hai Lyrics

 दाता दर्श को तेरे मेरी आंख तरस ती है

Singer - Sanjay Soni

Lyrics Track - Data Darsh Ko Tere Meri Aankh Tars Ti Hai





दाता दर्श को तेरे मेरी आंख तरस ती है,
गम अंसियो की धारा प्रकाश बरसती है,



सागर में आ रहे है तूफ़ान तो हजारो,
हे देव पार करना मेरी छोटी सी कश्ती है,
दाता दर्श को तेरे मेरी आंख तरस ती है,



तेरे दायरे में हम तो रहने दे मेरे बाबा,
तेरे दायरे के बाहर इक आग बरसती है,
दाता दर्श को तेरे मेरी आंख तरस ती है,



आना जरूर आना करके कोई बहाना,
तेरे चाहने वालो की कितनी बड़ी बस्ती है,
दाता दर्श को तेरे मेरी आंख तरस ती है,



भारत तो इनता जाने जो है तेरे दीवाने,
सब के घरो में ज्योति तेरे नाम की जग ती है,
दाता दर्श को तेरे मेरी आंख तरस ती है,



0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने