लिरिक्स - कैसा प्यारा ये दरबार है Kaisa Pyaara Ye Darbar Hai Lyrics

 कैसा प्यारा ये दरबार है यहाँ भक्तों की भरमार है

Singer -Mayank Aggarwal

Lyrics Track - Kaisa Pyaara Ye Darbar Hai



कैसा प्यारा ये दरबार है,
यहाँ भक्तों की भरमार है,
सबके मालिक ये सरकार है,
जिनकी दुनिया को दरकार है,
कैसा प्यारा ये दरबार है। 



तेरे दरबार में,
सबको हर सुख मिले,
तेरी किरपा से ही,
श्याम जीवन चले,
ऐसी दानी है दातार है,
सब भर देते भंडार है,
सबके मालिक ये सरकार है,
जिनकी दुनिया को दरकार है,
कैसा प्यारा ये दरबार है। 





श्याम साथी हो तो,
काम अटके नहीं,
और मजधार में,
कभी भटके नहीं,
अपने भगतो पे करने दया,
रहते हर दम ये तैयार है,
सबके मालिक ये सरकार है,
जिनकी दुनिया को दरकार है,
कैसा प्यारा ये दरबार है। 



जो भी आये यहाँ,
सच्चे विश्वास से,
खाली लौटे नहीं,
दानी के पास से,
'ओम' चरणों में संसार है,
यहाँ अमृत की बोछार है,
सबके मालिक ये सरकार है,
जिनकी दुनिया को दरकार है,
कैसा प्यारा ये दरबार है। 





कैसा प्यारा ये दरबार है,
यहाँ भक्तों की भरमार है,
सबके मालिक ये सरकार है,
जिनकी दुनिया को दरकार है,
कैसा प्यारा ये दरबार है।


0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने