लिरिक्स - प्रेम तुम्हारा हमको खाटू खींच लाता है Prem Tumara Humko Khatu Kheech Lata Hai Lyrics

प्रेम तुम्हारा हमको खाटू खींच लाता है

Singer - Mayank Aggarwal

Lyrics track - Prem Tumara Humko Khatu Kheech Lata Hai




मिलने को जब जब भी,
जी ललचाता है,
प्रेम तुम्हारा हमको,
खाटू खींच लाता है। 



खाटू के गांव की,
वो तंग गलियां,
बाबा के धाम की,
फूलो की भगियां,
खाटू की माटी की,
खुशबू सुहानी,
बाबा के कुण्ड का,
वो निर्मल पानी,
मन का मेल नहाने से,
सब धूल जाता है,
प्रेम तुम्हारा हमको,
खाटू खींच लाता है।


खाटू में जाते,
हम तो अकेले,
मिलते वहाँ है,
खुशियों के मेले,
बाबा की प्रेमियों का,
ऐसा परिवार है,
भक्तो में प्रेम का,
भटता उपकार है,
रह रह के ख्यालो में,
जब ये आता है,
प्रेम तुम्हारा हमको,
खाटू खींच लाता है।



ऐसा क्या जादू,
तुमने चलाया,
मोहित को अपना,
तुमने बनाया,
आँखों से अश्क का,
बहता सैलाब है,
तुम्हारी याद में,
दिल ये बेताब है,
ऐसा क्यों होता है,
समझ ना आता है,
प्रेम तुम्हारा हम को,
खाटू खींच लाता है।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने