लिरिक्स - श्याम तेरा ये एहसान है Shyam Tera Ye Ehhsaan hai Lyrics

लिरिक्स - श्याम तेरा ये एहसान है मेरी जग में जो पहचान है


Singer - Prashant Suryavanshi

Lyrics Track - Shyam Tera Ye Ehhsaan hai




इस तन में जो सांसे वसी ,
तेरे चरणों का ही दान है,
श्याम तेरा ये एहसान है,
मेरी जग में जो पहचान है। 



जन्म जब से लिया,
रूप देखा तेरा,
देखते देखते मैं हुआ हूँ बड़ा,
नहीं होता कहीं मेरा नामो निशान,
मेरे सिर पे नहीं होता हाथ तेरा,
तेरे उपकार से सँवारे,
मेरे होठों पे मुश्कान है,
इस तन में जो सांसे वसी,
तेरे चरणों का ही दान है,
श्याम तेरा ये एहसान है। 





जब तलक मैं जियु,
सांस इस तन से लू,
बस यही हो दुआ,
ध्यान तेरा करू,
ऐसा दो वर्धान मेरा कल्याण हो,
उम्र जब तक रहे तेरी सेवा करू,
मेरी कुछ भी नहीं ज़िंदगी,
सारी तुझपे ही कुर्बान है,
इस तन में जो सांसे वसी,
तेरे चरणों का ही दान है,
श्याम तेरा ये एहसान है। 



मैं तो हूँ इक दुआ जिसका नामो निशा,
बिन तेरे सँवारे इस यहां में कहाँ,
मेरी ऊँगली पकड़ ले चलो तुम कही,
पीछे पीछे चलूगा कहो गे यहाँ,
शर्मा का कुछ नहीं है वयुद,
तेरे हाथो में ही जान है,
इस तन में जो सांसे वसी,
तेरे चरणों का ही दाम है,
श्याम तेरा ये एहसान है,
मेरी जग में जो पहचान है।





श्याम तेरा ये एहसान है,
मेरी जग में जो पहचान है,
इस तन में जो सांसे वसी ,
तेरे चरणों का ही दान है,
श्याम तेरा ये एहसान है,
मेरी जग में जो पहचान है।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने