लिरिक्स : बैठे नजदीक तू सँवारे के तार से तार जुड़ने लगेगा Baith Nazdik Tu Saaware Ke Tar Se Tar Judane Lagega Lyrics

बैठे नजदीक तू सँवारे के तार से तार जुड़ने लगेगा

Singer - Shubham Rupam

Lyrics Track - Baith Nazdik Tu Saaware Ke Tar Se Tar Judane Lagega




बैठे नजदीक तू सँवारे के,

तार से तार जुड़ने लगेगा,

देख नजरो से नजरे मिला के,

तुमसे बाते वो करने लगेगा। 



ये है भूखा तेरी भावना का,

ये है प्यासा तेरे प्रेम रस का,

नंगे पैरो ही दौड़ा ये आए,

प्रेमियों का ऐसा इसे चसका

प्रेम जितना तू इससे बढ़ाए,

उतना तेरी तरफ ये बड़ेगा,

देख नजरो से नजरे मिला के,

तुमसे बाते वो करने लगेगा,

बैठे नजदीक तू सँवारे के,

तार से तार जुड़ने लगेगा। 



पास में बैठ कर तुम प्रभु को,

अपने दिल की हकीकत सुनाओ,

एक टक तुम छवि को निहारो,

कोई प्यारी सी धुन गुनगुनाओ,

भाव जागेंगे तेरे ह्रदय में,

प्रेम तेरा उमड़ने लगेगा,

देख नजरो से नजरे मिला के,

तुमसे बाते वो करने लगेगा,

बैठे नजदीक तू सँवारे के,

तार से तार जुड़ने लगेगा। 



श्याम से प्यार जिसने किया है,

स्वाद जीवन का उसने लिया है,

जिसने नजदीकियां है बढ़ाई,

उसने मस्ती का प्याला पिया है,

'बिनु' होठो पे रख के देखो,

सारा जीवन महकने लगेगा,

देख नजरो से नजरे मिला के,

तुमसे बाते वो करने लगेगा,

बैठे नजदीक तू सँवारे के,

तार से तार जुड़ने लगेगा। 



बैठे नजदीक तू सँवारे के,

तार से तार जुड़ने लगेगा,

देख नजरो से नजरे मिला के,

तुमसे बाते वो करने लगेगा।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने