लिरिक्स : चाहे जैसे मुझे रख लो कुछ न कहूँगा मैं Chahe Jaise Mujhe Rakh Lo Kuch Na Kahunga Main Lyrics

चाहे जैसे मुझे रख लो कुछ न कहूँगा मैं

Singer - Reshmi Sharma

Lyrics Track - Chahe Jaise Mujhe Rakh Lo Kuch Na Kahunga Main




चाहे जैसे मुझे रख लो,
कुछ ना कहूँगा मैं,
तेरा ही था तेरा ही हूँ,
तेरा रहूँगा मैं,
चाहे जैसे मुझे रख लो,
कुछ न कहूँगा मैं। 



तुम्हरे नाम का मोती ही,
मेरी दौलत है ,
ये रुतबा और ये शोहरत भी,
तेरी बदौलत है,
तू है सागर मैं हूँ कतरा,
तुझ संग बहूँगा मैं,
चाहे जैसे मुझे रख लो,
कुछ ना कहूँगा मैं।



मेरा मन अब नहीं लगता है,
जग की बातो में,
अपनी ऊँगली थमा दी मैंने,
तेरे हाथो में,
जिस तरफ ले चलो मुझको,
वहीं चलूँगा मैं,
चाहे जैसे मुझे रख लो,
कुछ ना कहूँगा मैं।



गम की रातें लगेंगी जैसी,
सुख का सवेरा है,
बस तू इक बार जो कह दे की,
हाँ तू मेरा है,
फिर तो हर एक सितम हसकर,
ही सहूँगा मैं,
चाहे जैसे मुझे रख लो,
कुछ ना कहूँगा मैं।



जिसकी अटकी है जान तुझमें,
मैं वो परिंदा हूँ,
तू मेरे साथ है इस आस पे,
मैं जिन्दा हूँ,
'सोनू' की आस जो टूटी तो,
जी ना सकूँगा मैं,
चाहे जैसे मुझे रख लो,
कुछ ना कहूँगा मैं।




चाहे जैसे मुझे रख लो,
कुछ ना कहूँगा मैं,
तेरा ही था तेरा ही हूँ,
तेरा रहूँगा मैं,
चाहे जैसे मुझे रख लो,
कुछ ना कहूँगा मैं।


0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने