लिरिक्स : जाके सिर पे हाथ म्हारे श्याम धणी को होवे हैं Jaake Sir Par Hath Mhare Shyam Dhani Ko Hove Hai Lyrics

जाके सिर पे हाथ म्हारे श्याम धणी को होवे हैं

Singer - Shubham Rupam

Lyrics Track - Jaake Sir Par Hath Mhare Shyam Dhani Ko Hove Hai




जाके सिर पे हाथ,
म्हारे श्याम धणी को होवे हैं,
जाँके सिर पे हाथ,
जाँके सिर पे हाथ,
म्हारे श्याम धणी को होवे है,
वांको बाल न बांको होवे है,
जाके सिर पे हाथ। 



कलयुग में बाबा का,
घर घर बजे डंका,
बड़ो बलकारी है,
जो भाव से ध्यावे,
पल भर में है आवे,
करे न देरी है,
जांका जैसा भाव,
जांका जैसा भाव,
बाबो वैसो फल देवे है,
जांका जैसा भाव,
जांका जैसा भाव बाबो,
वैसो फल देवे है,
वांको बाल न बांको होवे है,
जाके सिर पे हाथ। 



इक बार जाओगा,
 हर साल जाओगे,
बाबा के मेले में,
आनन्द ही आनन्द,
अमृत की हो वर्षा,
बाबा के मेले में,
लेकर एंको नाम,
लेकर एंको नाम,
जो भी पैदल खाटू जावे है,
लेकर एंको नाम,
लेकर एंको नाम,
जो भी पैदल खाटू जावे है,
वो बेठियो मौज उड़ावे से,
जाँके सिर पर हाथ। 



दुनिया के मस्ती में,
मत भूल बाबा ने,
जंइया मनाओगा,
यो मान जावेगो,
भूखो है थारे भाव को,
श्याम को आशीर्वाद,
'शुभम रूपम' जां पर होवे है,
श्याम को आशीर्वाद,
श्याम को आशीर्वाद,
'शुभम रूपम' जां पर होवे है,
वो टान के खुँटी सोवे है,
जाँके सिर पर हाथ। 




जाके सिर पे हाथ,
म्हारे श्याम धणी को होवे है,
जाँके सिर पे हाथ,
जाँके सिर पे हाथ,
म्हारे श्याम धणी को होवे है,
वांको बाल न बांको होवे है,
जाके सिर पे हाथ। 


0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने