लिरिक्स : मंदरिये में आके थारे सांवरा जाने को मन कोन्या रे करे Mandariye Main Aake Thare Sanwara Jane Ko Man Konya Re Kare Lyrics

मंदरिये में आके थारे सांवरा जाने को मन कोन्या रे करे

Singer - Shubham Rupam

Lyrics Track - Mandariye Main Aake Thare Sanwara Jane Ko Man Konya Re Kare



मंदरिये में आके थारे सांवरा,
जाने को मन कोन्या रे करे,
देवरिये में आके थारे सांवरा,
जाने को मन कोन्या रे करे। 



देसी घी को खानो बाबा,
घणो म्हाने भावे है,
खाने में बाबा म्हणे,
स्वाद घणो आवे है,
पेट भर जावे म्हारा सांवरा,
पर मन म्हारो कोन्या रे भरे,
मंदरिये में आके थारे सांवरा,
जाने को मन कोन्या रे करे। 



ग्यारस ने बाबा थारी,
हाजरी बजावा हाँ,
'शुभम-रूपम' के सागे,
भजन सुनावा हाँ,
जागा म्हे तो सारी सारी रात,
पर सोने को मन कोन्या रे करे,
मंदरिये में आके थारे सांवरा,
जाने को मन कोन्या रे करे। 




मंदरिये में आके थारे सांवरा,
जाने को मन कोन्या रे करे,
देवरिये में आके थारे सांवरा,
जाने को मन कोन्या रे करे। 


0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने