लिरिक्स : मन पेरशान है दिल भी हैरान है Man Pareshan Hai Dil Hairan Hai Lyrics

मन पेरशान है दिल भी हैरान है

Singer _ Sanjay Mittal Ji

Lyrics Track - Man Pareshan Hai Dil Hairan Hai




मन पेरशान है दिल भी हैरान है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है,
चलते चलते प्रभु आ गया मैं कहाँ,
कुछ खबर ही नहीं कुछ नहीं जान है,
मन पेरशान है दिल भी हैरान है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है। 



है कठिन ये सफ़र दूर मंजिल बड़ी,
ना तो है रहगुजर मुश्किलें भी खड़ी,
कांपते होठो पे भी तेरा नाम है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है,
चलते चलते प्रभु आ गया मैं कहाँ,
कुछ खबर ही नहीं कुछ नहीं जान है,
मन पेरशान है दिल भी हैरान है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है। 



नीर जैसे मेरे अश्क है बह रहे,
सुन भी लो न प्रभु तुमसे कुछ कह रहे,
आंसुओं  में छुपा मेरा पैगाम है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है,
चलते चलते प्रभु आ गया मैं कहाँ,
कुछ खबर ही नहीं कुछ नहीं जान है,
मन पेरशान है दिल भी हैरान है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है। 



अब समय आ गया मेरे संकट हरो,
जखम जो भी मेरे श्याम तुम ही भरो,
तेरे 'निर्मल' का बस तू निगेहबान है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है,
चलते चलते प्रभु आ गया मैं कहाँ,
कुछ खबर ही नहीं कुछ नहीं जान है,
मन पेरशान है दिल भी हैरान है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है। 




मन पेरशान है दिल भी हैरान है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है,
चलते चलते प्रभु आ गया मैं कहाँ,
कुछ खबर ही नहीं कुछ नहीं जान है,
मन पेरशान है दिल भी हैरान है,
हरता जा रहा हूँ तू कहाँ श्याम है।


0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने