लिरिक्स : औघड़ धूनी Aughad Dhooni By Ruchita Tiwari Lyrics

औघड़ धूनी रमावे धूनी भोले भंगिया

Singer - Ruchita Tiwari

Lyrics Track - Aughad Dhooni By Ruchita Tiwari




भोले के दरबार में,
दुनिया बदल जाती है,
रहमत से इसकी,
तकदीर बदल जाती है। 



गाले पहने हैं सर्पों की माला, 
महादेव भक्तों के प्रतिपाला,
रमावे धूनी भोले भंगिया,
रमावे धूनी भोले भंगिया। 



चन्द्रभान तेरे सर पर,
गंगा बहती जाए,
अंग बाघम्बर सोहे,
महाकाल तू भस्म रमाये, 
तेरी लीला है जग से न्यारी,
भोला नंदी की तू करता सवारी,
रमावे धूनी भोले भंगिया,
रमावे धूनी भोले भंगिया। 



जटाधारी शिव शम्भू,
तेरे कानो में कुण्डल साजे, 
भूत प्रेत सब नाचे,
जब डम डम डमरू बाजे,
चाहे सोमनाथ हो या हो काशी,
मैंने तुमको ही पाया अविनाशी, 
रमावे धूनी भोले भंगिया,
रमावे धूनी भोले भंगिया। 



देवो के देव तेरी,
है बड़ी अजब कहानी,
कैलाश पर है डेरा,
ओ भोले औघड़ दानी,
ओ मेरी बिगड़ी बना त्रिपुरारी, 
तेरी 'रूचि' इस दुनिया हारी,
रमावे धूनी भोले भंगिया,
रमावे धूनी भोले भंगिया। 




भोले के दरबार में,
दुनिया बदल जाती है,
रहमत से इसकी,
तकदीर बदल जाती है।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने