लिरिक्स : हो जो नजरे करम आपकी फिर नहीं डर है संसार की Ho Jo Njare Karam Aapki Fir Nahi Dar Hai Sansar Ki Lyrics

हो जो नजरे करम आपकी फिर नहीं डर है संसार की

Singer - Rupesh Choudhary

Lyrics Track - Ho Jo Njare Karam Aapki Fir Nahi Dar Hai Sansar Ki




हो जो नजरे करम आपकी,
फिर नहीं डर है संसार की,
एक नजर दस पर हो कभी,
एक नजर दस पर हो कभी,
फिर नहीं डर है संसार की,
हो जो नजरें करम आपकी।



कोई दाता है तुझसा नहीं,
दिन मुझसा है कोई नहीं,
अब तो तेरे सिवा इस जहाँ में,
है किसी पर भरोसा नहीं,
तेरे हाथों में है जिन्दगी,
फिर नहीं डर है संसार की,
हो जो नजरें करम आपकी।




चाहे कितना भी करके जतन,
कोई भी साथ जाता नहीं,
मौत जब सामने होगी तेरे,
कोई भी रोक पाता नहीं,
गर हो सच्ची तेरी बंदगी,
फिर नहीं डर है संसार की,
हो जो नजरें करम आपकी।




कल पे बातों ना छोड़ो 'फणी',
कल पे कुछ जोर चलता नहीं,
वक्त से पहले किस्मत से ज्यादा,
मांगने पे भी मिलता नहीं,
है ये जीवन बड़ा कीमती,
फिर नहीं डर है संसार की,
हो जो नजरें करम आपकी।




हो जो नजरे करम आपकी,
फिर नहीं डर है संसार की,
एक नजर दस पर हो कभी,
एक नजर दस पर हो कभी,
फिर नहीं डर है संसार की,
हो जो नजरें करम आपकी।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने