लिरिक्स : मैं भूल गई री दादी Main Bhul Gai Ree Dadi Lyrics

मैं भूल गई री दादी 

Singer - Vinod Deewana

Lyrics Track - Main Bhul Gai Ree Dadi




मैं भूल गई री दादी,
घर से माँ मैं आती,
थारे नाम की भूली चुन्दड़ी,
थारे मंगल पाठ मैं आती।



छोटा छोटा टाबरिया,
मैं सागे खीच ले आई,
कर दादी ज्योति दर्शन,
दो नैना ज्योति सगाई,
म्हारे अंगड़ा सती है दादी,
मैं पालना झुलाती,
मैं भूल गई री दादी,
घर से माँ मैं आती। 



श्रंगार की शोभा चमके,
दादी शीश के छत्र लटके,
माथे बिन्दी सूर्य मणी,
थारे चुन्दड़ी हीरा चमके,
नाका नथनी लाल जड़ी है,
गल कर्ण फूल दाती,
मैं भूल गई री दादी,
घर से माँ मैं आती। 



तेरी हरी भरी रहे बगीया,
माँ तेरे आँचल खुशिया,
रहे सदा सुहागन दाती,
तेरी सखी सहेली सखियाँ,
जन मंगल पाठ की भावना,
ह्रदय में ज्योत जगाती,
मैं भूल गई री दादी,
घर से माँ मैं आती। 



तू आदी माँ है शक्ति,
नव दुर्गे संग है चलती,
धोरा धरती बन्यो देवरो,
माँ पूर्ण रक्षक करती,
रख हाथ दया का सज्जन,
कण कण महीमा गाती,
मैं भूल गई री दादी,
घर से माँ मैं आती।



मैं भूल गई री दादी,
घर से माँ मैं आती,
थारे नाम की भूली चुन्दड़ी,
थारे मंगल पाठ मैं आती।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने