लिरिक्स : तेरे प्यार का आसरा चाहता हूँ Tere Pyar Ka Aasra Chahta Hun Lyrics

तेरे प्यार का आसरा चाहता हूँ

Singer - Rajni Rajasthani

Lyrics Track - Tere Pyar Ka Aasra Chahta Hun




तेरे प्यार का आसरा चाहता हूँ,
कृपासिंधु तेरी कृपा चाहता हूँ। 


मैं चाहता जानु क्यों मशहूर हो तुम,
क्यों भक्तों के दिल के कोहिनूर हो तुम,
जरा पास आओ क्यों ऐसे दूर हो तुम,
जरा पास आओ क्यों ऐसे दूर हो तुम,
तुम्हें पास से देखना चाहता हूँ,
कृपासिंधु तेरी कृपा चाहता हूँ।



मैं चाहता हूँ मुझ पर तुम्हारी नजर हो,
तेरे इश्क का मुझपे ऐसा असर हो,
जमाने को भूलूँ बस तेरी खबर हो,
जमाने को भूलूँ बस तेरी खबर हो,
तुम्हे रात दिन सोचना चाहता हूँ,
कृपासिंधु तेरी कृपा चाहता हूँ।



मैं भटकता हुआ हूँ मुझे राह दिखाओ,
प्रभु प्रेम करना मुझे भी सिखाओ,
जो काबिल नहीं तेरे काबिल बनाओ,
जो काबिल नहीं तेरे काबिल बनाओ,
मैं भी तुम्हे पूजना चाहता हूँ,
कृपासिंधु तेरी कृपा चाहता हूँ।





मेरे सर पे बाबा जरा हाथ धर दो,
प्रभु भाव ऐसा मेरे दिल में भर डोडो,
'सोनू' को भी भजनों में मदहोश कर  दो,
'सोनू' को भी भजनों में मदहोश कर  दो,
तेरी मस्ती में झूमना चाहता हूँ,
कृपासिंधु तेरी कृपा चाहता हूँ।



तेरे प्यार का आसरा चाहता हौं,
कृपासिंधु तेरी कृपा चाहता हूँ।


0/Post a Comment/Comments

और नया पुराने