लिरिक्स : क्यों भूल गए श्यामा मुझे पागल समझ कर भूल गए Kyu Bhool Gaye Shyama Mujhe Pagal Samajh Kar Bhool Gaye Lyrics

क्यों भूल गए श्यामा मुझे पागल समझ कर भूल गए

Singer - Shyam Singh Chouhan

Lyrics Track - Kyu Bhool Gaye Shyama Mujhe Pagal Samajh Kar Bhool Gaye




क्यों भूल गए श्यामा, 
मुझे पागल समझ कर भूल गए, 
पागल समझ कर भूल गए श्याम,
पागल समझ कर, 
क्यों भूल गए श्यामा,
मुझे पागल समझ कर भूल गए। 



स्नान कराऊ लडाऊ,
करू तेरा श्रृंगार, 
गेंदा जूही गुलाब और चंपा,
बेला की भरमार,
क्यों भूल गए श्यामा,
मुझे पागल समझ कर भूल गए। 



भांति भांति का इत्र चढाऊ,
केसर तिलक लगाऊं, 
झूम झूम कर गीत सुनाऊँ,
सुन्दर श्याम रिझाऊं,
क्यों भूल गए श्यामा,
मुझे पागल समझ कर भूल गए। 



यमुना तट पर कृष्ण कन्हैया,
तूने धेनु चराई, 
गोवर्धन अंगुली पर धारो,
ब्रज की लाज बचाई, 
क्यों भूल गए श्यामा,
मुझे पागल समझ कर भूल गए। 



मुरली वाले तू मतवाला,
मैं भी हूँ मतवाला,
'आलू सिंह जी' या अरज़ गुजारे,
खोल कर्म का ताला, 
क्यों भूल गए श्यामा,
मुझे पागल समझ कर भूल गए। 




क्यों भूल गए श्यामा, 
मुझे पागल समझ कर भूल गए, 
पागल समझ कर भूल गए श्याम,
पागल समझ कर, 
क्यों भूल गए श्यामा,
मुझे पागल समझ कर भूल गए।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने