लिरिक्स : सुन्दर कहलाते जो इस जग के नज़ारे है Sunder Kahlate Jo Is Jag ke Najare hai Lyrics

सुन्दर कहलाते जो इस जग के नज़ारे है

Singer - Neelkant Modi

Lyrics Track - Sunder Kahlate Jo Is Jag ke Najare hai




सुन्दर कहलाते जो,
इस जग के नज़ारे हैं, 
तेरी चुनरी में हे माँ,
वो चाँद सितारे हैं,
सुन्दर कहलाते जो,
इस जग के नज़ारे हैं। 



पूरब में सूरज की,
लाली जब छाती है, 
लगता चुनरी ओढ़े तू,
धरती पे आती है, 
तेरी ही आभा के,
ये सारे उजारे हैं 
सुन्दर कहलाते जो,
इस जग के नज़ारे हैं। 




चमकीले ये मड़िया 
फीकी पड़ जाती हैं, 
भाव से भरी चुनरी,
में जब सज जाती हैं 
तारों के लटकन से,
झड़े इसके किनारे हैं, 
सुन्दर कहलाते जो,
इस जग के नज़ारे हैं। 



जब मन तेरे दर्शन को,
मैया ललचाता है, 
चुनरी के रंग में ही,
चंदा रंग जाता है, 
आजा ओढ़न को माँ,
'आकाश' पुकारे है, 
सुन्दर कहलाते जो,
इस जग के नज़ारे हैं। 




सुन्दर कहलाते जो,
इस जग के नज़ारे हैं, 
तेरी चुनरी में हे माँ,
वो चाँद सितारे हैं,
सुन्दर कहलाते जो,
इस जग के नज़ारे हैं।


0/Post a Comment/Comments

नया पेज पुराने